Web designing क्या है? Web designer कैसे बने? - D Tech Info

Web designing क्या है? Web designer कैसे बने?

Web designing क्या है? Web designer कैसे बने?

(web designing kya hai in hindi, what is web design meaning, web design)
अगर आप web designing में carrier बनाना चाहते है तो यह सिखने से पहले आपको कुछ बातो को जानना बहुत जरुरी होता है. जिसे हम इस पोस्ट में बताने बाले है. इसमें web design से जुड़े सभी जानकरियां दी जाएगी.
web design करने के लिए बहुत लम्बे समय की course नहीं होती है. इसे सीखना उतना आसान नहीं है तो कठिन भी नहीं है. इससे आप एक अच्छे carrier बना सकते है. आपके पास creative skills और technical abilities होनी चाहिए.

बहुत से लोग अपनी वेबसाइट को डिज़ाइन करने के लिए web developers और web designer की मदद लेते है. अपनी वेबसाइट के लिए web development और web designing का काम आप स्वयं ही कर सकते है. 

Web designing से जुड़े इसमें जानकारी दिया जायेगा की "web designing क्या है? Web designing के प्रकार, वेब डेवलपर और वेब डिज़ाइनर में अंतर, website design के लिए जानने योग्य बाते, web designing course कैसे सीखे? Web designing course करने के बाद job options" इत्यादि.

आगे अब उन सभी के बारे में जानकारी दी गयी है.
Web Designing क्या है? Web Designer कैसे बने? web designing kya hai hindi, web design kaise kare, web design meaning, web design course, dtechin
 web designing kya hai hindi, web design kaise kare, web design meaning, web design course, dtechin

वेब डिजाइन क्या है?

(what is web designing in hindi, web designing meaning)
Website को design करने की प्रक्रिया को web designing कहते है. जिसमे वेबसाइट को जरुरत से अनुसार एक बेहतर look के साथ तैयार किया जाता है.

Website को build करने के लिये कई software tool और language का इस्तेमाल किया जाता है.

इसमें किसी भी वेबसाइट की web-page, content, content creation, content design, page layout, graphics design आदि को अच्छे से ब्यवस्थित करना होता है.

वेबसाइट में social बटन, मेनू बार, search box  इत्यादी को सही स्थान पर ब्यबस्थित किया जाता है. और  यह भी देखा जाता है की इसका बैकग्राउंड कैसा होना चाहिए..

किसी भी website या web-page को hyper text markup language (HTML) की सहायता से बनाया जाता है. यह एक computer programming language होता है. और इसका programming stracture, coding के रूप में होता है. 

Web design के लिए आपको html, css, java script जैसी सभी भाषाओं का अच्छा ज्ञान होना जरुरी होता है.

Web designing के प्रकार 

(type of web designing, web design type)
Web designing करने का दो भाग होता है. इसे दो steps में तैयार किया जाता है. जिसे front end web design और back end web design कहते है.

Web designer बनने के लिये front end web designing और back end web development,  दोनो की जानकारी होनी जरुरी होता है.

Front end web design:- वेबसाइट को open करने पर वेबसाइट के सामने की डिज़ाइन जो visitors को दिख रहा होता है. वेबसाइट की वो सभी काम front end web designer के अंतर्गत आता है.

Front end web design के लिए photoshop का basic course, html, javascript की जानकारी जरुरी होती है.

Back end web design:- यह डिजाइनिंग का मुख्य steps होता है. इसकी designing यूज़र को दिखाई नहीं  देती है.
Back end web design में इस्तेमाल होने वाले सबसे आसान लैंग्वेज php है वैसे आप वेब डिजाइनिंग और दूसरी लैंग्वेज database में भी कर सकते हैं.

वेब डेवलपर और वेब डिज़ाइनर में अंतर, संक्षिप्त में जाने.

(web developer vs web designer)
Web developer के अंतर्गत website को बनाने का database, web based software, domain hosting management आदि जैसे बहुत तरह के काम आते है.

कोई भी website का backside work को  web development कहा जाता है.

Web developer और web designer, दोनों में विशेष अंतर नहीं होता है. बस अन्‍तर केवल उनके काम में होता है कि वे किस प्रकार की जरूरत को पूरा करने से सम्‍बंधित काम करते हैं.

किसी भी वेबसाइट का ढांचा बनाने के लिए html सीखने की जरूरत होती है. 

जबकि किसी भी वेबसाइट का design जैसे की उसका आकर,रंग-रूप, सही तरह से ब्यबस्थित करने का काम web डिज़ाइनर का होता है.

जिस तरह की वेबसाइट की जरुरत है उसी अनुसार उसका design करने का कम web designer करता है.

Html से किसी भी वेबसाइट को तैयार करने के बाद designing करने का काम css के माध्यम से होता है. जो designer के अंतर्गत आता है. 

इसमें JavaScript प्रोग्रामिंग की भी जरुरत होती है. इसके आलावा और कई language की सहायता से भी किया जाता है.

ऐसा नहीं है की web developer और web designer दोनों 
अलग-अलग ब्यक्ति ही हो सकता है. Web designing और web development  करना कोई एक ब्यक्ति सिख सकता है.

क्योकि web designer या web developer बनने के दोनों ही स्थितियों में आपको html, css और javascript का ज्ञान होना ज़रुरी होता है. 

Website design के लिए जानने योग्य बाते.

(web design tips) 
किसी भी website को बनाने के लिये सबसे पहले विभिन्न तथ्यों को ध्यान में रख कर planning करते हैं और उसके बाद उस plan के अनुसार website का design तैयार किया जाता है.

Website design , उससे जुड़े जानकारियां और contents के आधार पर तैयार किया जाता है.

वेब डिज़ाइन, web page या पूरी वेबसाइट का निर्माण और website बनाने की एक process है. जिसके अंतर्गत planning, virtualization जैसी कई चीजें आती है.

Website के layout और अन्य visual elements को बनाने के लिए adobe photoshop, sketch और illustrator जैसे software tool का प्रयोग करते है.

इसमें क्लाइंट के goals, budget और brand personality को समझना होता है. जिसके बाद इन चीजों को manage करते हुए एक website का निर्माण करना होता है.

आने वाले नए features में updated होते हुए web designer को हमेशा नए design trend के साथ बने रहने की आवश्यकता होती है.

Web designing करके अगर online पैसा कमाना चाहते है तो डिज़ाइनर की ऑनलाइन पहचान जरुरी होती है. जो इस फील्ड में आने के बाद बन जाती है.

Web designing course कैसे सीखे?

(what is web designing course, web designer kaise bane)
एक अच्छा वेब डिजायनर बनने के लिए html, photoshop basics, css, javascript, php, database का सीखना जरुरी होता है. इसके लिए आप किसी इंस्टिट्यूट को ज्वाइन कर सकते है. 

इसके लिए ऑनलाइन किसी वेबसाइट की सहायता से सिख सकते है. जहाँ पर लिखित रूप में नोट प्राप्त करके सिख सकते है.

इसके साथ-साथ आप ऑनलाइन यूट्यूब की सहायता भी ले सकते है. 
इसके लिए सबसे पहले आपको html सीखना चाहिए.

इसके बाद आपको फोटोशॉप के बेसिक को सीखना होगा. 
फिर css सीखना चाहिए.

जब html और css पर अच्छी पकड़ हो जाये तब आपको javascript और php को सीखना होगा.

इन सभी चीजो को सीखते हुए रेगुलर अभ्यास भी करना बहुत जरुरी होता है.

इन सभी को एक परफेक्ट रूप से सिखने के बाद आप एक अच्छे और professional web डिज़ाइनर बन सकते है.

Photoshop/illustrator:- एक अच्छे web designer बनने के लिए photoshop/illustrator का basic ज्ञान होना जरुरी होता है. 

क्योकि web page को बनाने से पहले उसका एक demo तैयार कर लिया जाता है. जिसकी सहायता से उसे देख कर उसी अनुसार coding की जाती है.

Html:- html का मतलब hyper text markup language होता है. Html एक code के रूप में लिखी जाने वाली markup language है जिसका प्रयोग website को बनाने के लिए किया जाता है. 

CSS:- css , जो एक cascading style sheet होता है. Html से बने हुए structure को css की सहायता से design देने के काम आता है.

Javascript:- html और css के बाद website को interactive बनाने के लिए javascript का प्रयोग होता है.

Web designing course के फायदे.

(benefits of web designing course, web design course benefits)
अगर आपके पास वेब डिजाइन की नॉलेज है तो ऑनलाइन पैसा बहुत आसानी से कमा सकते हैं.

इससे अपने क्रिएटिविटी से पैसा कमाने के आलावा अपनी स्वयं की वेबसाइट डिज़ाइन कर सकते है.

अच्छे से web designing course  complete करके अपनी खुद की इंस्टिट्यूट भी खोल सकते है.

यह एक बहुत अच्छा कोर्स और carrier है जिसे आप कम समय में ही web designing course सिख सकते है.

Web designing course करने के बाद job options

Web designing के course करने के बाद आप इससे जुड़े कई तरह के कार्य कर सकते है. और अपना जॉब आप्शन choose कर सकते है.
  • Applications developer
  • Games developer
  • Multimedia programmer
  • Multimedia specialist
  • Seo specialist
  • Ux analyst
  • Ux designer
  • Web content manager
  • Web designer
  • Web developer
तो यह था web designing से जुड़े सभी जानकारियां.

इस पोस्ट में web designing के बारे में हमने बताया की "web designing क्या है? Web designing के प्रकार, वेब डेवलपर और वेब डिज़ाइनर में अंतर, website design के लिए जानने योग्य बाते, web designing course कैसे सीखे? Web designing course करने के बाद job options" इत्यादि.

हमें उम्मीद है की इस जानकारी से आपको web designing के बारे में जरुर कुछ सिखने को मिला होगा. अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे किसी social sites  पर share करना ना भूले.

FTP क्या है और कैसे काम करता है? What is FTP in Hindi?

FTP क्या है और कैसे काम करता है ? What is FTP in Hindi? अगर आप जानना चाहते हैं की FTP क्या है ? और यह काम कैसे करता है तो आपको यह article ...

लोकप्रिय पोस्ट

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *